• Sun. Apr 21st, 2024

घाटी में 2003 में हिंदुओं के नरसंहार के सवाल पर भड़के फारूक अब्दुल्ला, बीच में छोड़ा शो

श्रीनगर
 जम्‍मू कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला शन‍िवार को कश्मीरी हिंदुओं के सवाल पर भड़क गए। इस दौरान वह टीवी शो बीच में छोड़कर उठ गए। दरअसल जम्मू-कश्मीर और लद्दाख हाई कोर्ट ने पुलवामा के नदीमर्ग में हुए नरसंहार की फाइल दोबारा खोलने के आदेश दिए हैं। जो क‍ि 23 मार्च 2003 की रात को हुआ था, ज‍िसमें सेना की वर्दी में आए लश्कर ए तैयबा के आतंकियों ने नदीमर्ग में 24 कश्मीरी पंडितों की गोली मारकर हत्या कर दी थी। मरने वालों में 11 पुरुष, 11 महिलाएं और 2 बच्चे भी शामिल थे। कश्मीरी पंडितों पर हुए जघन्य अपराधों को लेकर जब फारूक अब्दुल्ला से सवाल क‍िया गया तो उन्‍होंने कहा क‍ि वो हमारे साथी भाई हैं, पर बात जब उनके ऊपर हुए अत्याचारों की आई तो वह इंटरव्यू बीच में छोड़कर चले गए।

 एक शो के दौरान पुलवामा के नदीमर्ग में हुए नरसंहार केस को दोबारा खोलने को लेकर फारूक अब्दुल्ला से सवाल क‍िया गया। इस पर फारूक अब्दुल्ला ने कहा क‍ि अदालत का फैसला स्‍वागत योग्‍य है। हालांक‍ि इस नरसंहार में ह‍िंदुओं के अलावा मुसलमान भी मारे गए थे। ऐसे में एकतरफा केस का फैसला सवाल उठाता है। हालांक‍ि उन्‍हेांने कहा क‍ि वो कश्‍मीरी पंड‍ितों का घाटी में स्‍वागत करते हैं।

 

यह कहते हुए छोड़ा शो
नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला से जब कश्‍मीर घाटी से हिंदुओं के पलायन पर सवाल क‍िया गया तो वह भड़क गए। उन्‍होंने कहा क‍ि आप जख्‍मों को उखाड़ रही हैं। वो ह‍िंदू हमारे भाई थे। उनके साथ हम मरे और ज‍िए हैं। फारूक अब्दुल्ला ने कहा क‍ि आपके सवाल एकतरफा बीजेपी माइडेड लगाते हैं। यह कहते हुए फारूक अब्दुल्ला शो को छोड़कर चले गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *