• Thu. Jun 13th, 2024

प्रदेश में 43 दिन में 70 लाख 61 हजार लोगों ने लगवाया बुस्टर डोज़

भोपाल
 कोरोना कब अपना स्वरूप बदलकर खतरनाक रूप ले ले इस बात पर बड़े डाक्टर और विज्ञानी भी कुछ बोलने की स्थिति में नहीं है। इसके बाद भी हाल यह है कि प्रदेश में कोरोनारोधी टीका की सतर्कता डोज लगवाने को लेकर लोग गंभीर नहीं हैं। हाल यह है कि प्रदेश में पांच करोड़ से ज्यादा लोगों को सतर्कता डोज लगाई जानी है। 18 साल से ऊपर के लोगों को निशुल्क सतर्कता डोज लगाने का अभियान प्रदेश में 15 जुलाई से श्ाुरू हुआ है। इसमें अभी तक 70 लाख 61 हजार लोगों ने ही सतर्कता डोज लगवाई है। 15 जुलाई के पहले 18 से ऊपर के लोगों को निजी अस्पतालों में सतर्कता डोज लग रही थी। सरकार की तरफ से 60 साल से ऊपर वालों के साथ स्वास्थ्यकर्मी और अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों की ही सतर्कता डोज लगाई जा रही थी। 15 जुलाई के पहले इन सभी को मिलाकर 28 लाख को सतर्कता डोज लगी थी। इस तरह प्रदेश में अब तक 98 लाख 58 हजार लोगों को सतर्कता डोज लग चुकी है।

सतर्कता डोज लगवाने वालों में नौ लाख्ा 40 हजार स्वास्थ्यकर्मी और अग्रिम पंक्ति के कर्मचारी हैंं। बाकी 18 साल से ऊपर के दूसरे लोग हैं। बता दें कि प्रदेश पांच करोड़ 39 लाख लोगों ने अभी तक कोरोनारोधी टीका की दोनों डोज लगाई जा चुकी है। इनमें जिन्हें दूसरी डोज लगवाए छह महीने हो गए हैं उन्हें सतर्कता डोज लगाई जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *