• Sat. May 18th, 2024

वामपंथ – आतंकवाद अब कुछ जिलों में ही सिमटकर रह गए हैं – शाह

रायपुर
छत्तीसगढ़ प्रवास के दौरान मोदी एट द रेट 20 विषय पर आधारित पुस्तक के संदर्भ में आयोजित संगोष्ठी में   अपनी बातों को रखते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार के आठ वर्षों में नक्सलवाद पर कड़ा प्रहार किया गया है। नक्सल घटनाओं में कमी आई है। अब वामपंथ -आतंकवाद कुछ जिलों में ही सिमटकर रह गए हैं।देश के बुद्धिजीवियों ने अपने विचार इस पुस्तक में साझा किए हैं जो हर व्यक्ति तक पहुंचना जरूरी है।  

समारोह को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि देश के युवा मोदी को आज मार्गदर्शक के रूप में देखते हैं। मोदी के जीवन से लोगों को प्रेरणा मिलती है उसे किसी किताब पर समेटकर नहीं रखा जा सकता। सर्जिकल स्ट्राइक हो, एयर स्ट्राइक हो, नोटबंदी हो, जीएसटी हो ये सारे बड़े फैसले नरेंद्र मोदी ने देश हित में लिया है।  आज भारत दुनिया का बड़ा उत्पादन का हब बन रहा है। भारत स्टार्टअप का हब बन रहा है। धारा 370, 35 ए को खत्म किया, तीन तलाक बंद किया, वन रैंक पेंशन शुरू किया। बगैर विवाद रामजन्मभूमि पर गगन चुंबी राम मंदिर बन रहा है।

आठ साल के शासन में विपक्ष भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा सकता। देश की जनता आज पोलिटिक्स आफ परफोरमेंस मांगती है। मोदी के प्रधानमंत्री रहते हुए दो राष्ट्रपति तय करने का मौका मिला। एक बार दलित वर्ग से रामनाथ कोविंद मिले और दूसरी बार आदिवासी वर्ग से द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति बनाया गया। छत्तीसगढ़ समेत देश का आदिवासी इस पर गौरव कर रहा है। 75 सालों में कभी देश को आदिवासी राष्ट्रपति नहीं दिया गया था। सालों से पाकिस्तान जवानों का सिर काटता रहा, लेकिन मोदी प्रधानमंत्री बने ऊरी और पुलवामा फतह किया।

पंडित दीनदयाल आडिटोरियम में आयोजित संगोष्ठी में श्री शाह को सुनने के लिए काफी संख्या में लोग जुटे थे। इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री रेणुका सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह, भाजपाध्यक्ष अरूण साव, नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल, पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, धरमलाल कौशिक, सांसद सुनील सोनी, सांसद सरोज पांडेय उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *