• Sat. Jun 22nd, 2024

मेक इन इंडिया की मिसाल ‘नमो बम’ की खेप स्वीडन रवाना, जमीन-हवा में दुश्मनों पर होगा वार

जबलपुर
आर्डनेंस फैक्ट्री खमरिया से 40एमएम/एल70 की खेप लंबे समय के बाद बाहर निकली। यह खेप स्वीडन के लिए रवाना हुई। बम के खोलों से भरे कंटेनर को आर्डनेंस फैक्ट्री खमरिया के जीएम अशोक कुमार ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। ओएफके से पहली खेप में 11 हजार काटेज केस रवाना किए गए। 'नमो' नाम के एंटी एयरक्राफ्ट इन बमों को पहली बार भारत यूरोपियन देश स्वीडन को एक्सपोर्ट किया गया है।
 
44,000 काटेज केस का आर्डर
आयुध निर्माणी खमरिया म्यूनिशन इंडिया लिमिटेड को वर्ष 2022-23 के लिए प्राप्त उत्पादन लक्ष्य में मेसर्स नमो स्वीडन से 40 एम.एम./एल 70 के 44,000 काटेज केस का आर्डर प्राप्त हुआ है। इनमें से आर्डनेंस फैक्ट्री खमरिया द्वारा शुरूआत में 200 सैम्पल स्वीडन भेजे गए थे। जिसका पहला पायलट लाट प्रोसेस आडिट और फायरिंग के सारे मानदंडों के मुताबिक सही रहा। उस सैम्पल लाट के पास होने के बाद से निर्माणी में नियमित रूप से उत्पादन प्रक्रिया चल रही है। इसी की परिणति है कि 11 हजार काटेज केस का पहला डिस्पैच लाट सोमवार की देर रात रवाना किया गया। इस लाट को ओएफके-महाप्रबंधक अशोक कुमार द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *