• Sat. May 18th, 2024

7 सितंबर से राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस की कन्याकुमारी से कश्मीर तक पदयात्रा

Byadmin

Aug 31, 2022

रायपुर
कांग्रेस 7 सितंबर से वृहद पदयात्रा का आयोजन कर रही है। कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी पदयात्रा की अगुवाई करेंगे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि पहली बार इस देश में इतना व्यापक और बड़ा जनसंपर्क अभियान चलाया जा रहा जिसमें कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक की पदयात्रा का आयोजित किया गया है। जिसके दौरान 7 सितम्बर को, शाम 5 बजे, कन्याकुमारी में विशाल रैली होगी, जिसमें राहुल गांधी जी रहेंगे और तमिलनाडु, पुदुचेरी, केरल के लोग वहाँ पर शामिल होंगे। पदयात्रा 5 माह 3500 किमी 12 राज्यों से होकर गुजरेंगे। इस पदयात्रा में तीन कैटेगरी के पदयात्री होंगे 100 पदयात्री ऐसे होंगे, जो कि कन्याकुमारी से कश्मीर तक पूरा चलेंगे। इसमें सभी प्रदेशों से 5 लोग शामिल होंगे। 100 पदयात्री उन राज्यों के होंगे, जिन राज्यों से ये यात्रा नहीं गुजर रही है और 100 पदयात्री वहाँ के होंगे, जिस राज्य से पदयात्रा गुजर रही है। मुख्य बात यह है कि 7 तारीख को जब शाम को 5 बजे आमसभा रैली होगी, उसी समय देश के हर ब्लॉक में सर्वधर्म प्रार्थना होगी और जहाँ-जहाँ कनेक्टिविटी है, वहाँ से हमारी वेबसाइट पर लाइव स्ट्रीमिंग होगी, पूरे देश में मॉनिटर लगाकर वहाँ इस पूरी रैली को देखा जा सकेगा।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि देश भर में सभी जगह 8 तारीख को सुबह 7 बजे कांग्रेस जन पदयात्रा करेंगे, उसमें हर ब्लॉक में, हर विधानसभा में 10 किलोमीटर की पदयात्रा करनी है। लक्ष्य यह है कि इन 5 महीनों में हर घर तक, हर परिवार तक कांग्रेस का जनसंपर्क हो और देश के सामाजिक आर्थिक जो हालात हैं, जिस प्रकार से हमारी धार्मिक समरसता को बिगाड़ा जा रहा है, जिस तरह से आर्थिक हालात बिगड़ रहे हैं, जिस तरह से गरीब, ज्यादा गरीब होता जा रहा है; अमीर, ज्यादा अमीर होता जा रहा है, कुछ चुने हुए लोगों के लाखों करोड़ रुपए के कर्जे माफ हो रहे हैं, कुछ चुने हुए बड़े औद्योगिकघरानों के टैक्स माफ किए जा रहे हैं और गरीबों के ऊपर टैक्स का बोझ बढ़ाया जा रहा है, इन सब चीजों को हमें जन-जन तक पहुंचाने के लिए काम करेंगे और इसमें जिम्मेदारी भी तय की जाए। निर्धारित फॉर्म सबको दिया जाएगा जिसमें जानकारी एकत्रित की जायेगी। प्रदेश अध्यक्ष और विधायक दल के नेता को भी पदयात्रा में शामिल होना है और जिन-जिन परिवारों से जाकर वो मिलेंगे, उसकी जानकारी भी हमारे एआईसीसी कंट्रोल और पीसीसी कंट्रोल में दी जाएगी।

मरकाम ने कहा कि जिन राज्यों से ये यात्रा नहीं गुजर रही है, उनमें भी यात्रा के उद्देश्य को व्यापक प्रचारित किया जायेगा। जिन राज्यों से पदयात्रा नहीं गुजर रही है, वहाँ की मिट्टी और वहाँ का पानी, वहाँ के पदयात्री लेकर आएंगे और उस मिट्टी को इस पदयात्रा में, जिन राज्यों से गुजर रहे हैं, वहाँ पर उस मिट्टी का प्रयोग और पानी का प्रयोग किया जाएगा, वहाँ पेड़ लगाए जाएंगे, ताकि हमेशा हमारी इस पदयात्रा की स्मृति उन इलाकों में रहे, जिन इलाकों से ये पदयात्रा गुजर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *