• Sun. May 19th, 2024

तालिबान अधिकारी पर रेप का आरोप लगाने वाली लड़की गिरफ्तार, वीडियो में बताया था, कैसे घर में घुसकर…

काबुल
 अफगानिस्तान में तालिबानी अधिकारी पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली लड़की को गिरफ्तार कर कर लिया गया है और तालिबान ने कहा है कि, बहुत जल्द इस लड़की को सजा दी जाएगी। इस हफ्ते की शुरूआत में अफगान लड़की ने तालिबान के एक अधिकारी पर बलात्कार का आरोप लगाया था और एक वीडियो जारी किया था, जिसमें तालिबान का अधिकारी उसके घर में दिखाई दे रहा है। लड़की ने आरोप लगाया था, कि वरिष्ठ तालिबानी अधिकारी उससे जबरन शादी की है और उससे बलात्कार किया है।

 
लड़की को ही किया गिरफ्तार
तालिबान की तरफ से लड़की को गिरफ्तार करने की पुष्टि की गई है और उसे जल्द ही सजा देने की बात कही है। वीडियो में लड़की अपना नाम इलाहा बता रही थी और रो रही है और तालिबान का वरिष्ठ अधिकारी भी उसके साथ वीडियो में दिखाई दे रहा था। जो तालिबानी अधिकारी वीडियो में दिखाई दे रहा था, वो तालिबान के आंतरिक मंत्रालय का पूर्व प्रवक्ता सईद खोस्ती था, जो वीडियो में लड़की को धमकाते हुए देखा जा रहा था। लड़की ने आरोप लगाया है कि, तालिबान के पूर्व प्रवक्ता ने उससे मारपीट और बलात्कार किया है। लड़की वीडियो में कह रही थी, कि वो राजधानी काबुल के एक अपार्टमेंट से बोल रही थी, जहां उसे अफगानिस्तान से भागने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके साथ ही लड़की ने बचाने की गुहार लगाई थी।

 
जान से मारने की आशंका
वीडियो में लड़की ये कहती हुई देखी जा रही है, कि "ये मेरे आखिरी शब्द हो सकते हैं। वह मुझे मार डालेगा, लेकिन हर बार मरने से बेहतर है कि एक बार मर जाऊं।" वहीं, वीडियो सामने आने के अगले ही दिन तालिबान ने पीड़ित लड़की को गिरफ्तार कर लिया और तालिबान द्वारा संचालित सुप्रीम कोर्ट की तरफ से एक ट्वीट में कहा गया कि, लड़की इलाका को मुख्य न्यायाधीश अब्दुल हकीम हक्कानी के आदेश पर मानहानि के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। हालांकि, ट्वीट में ये नहीं बताया गया है, कि क्या किसी तरह का कोई ट्रायल भी चला है या नहीं। तालिबान की तरफ से कहा गया है, कि जल्द ही शरिया कानून के मुताबिक, लड़की को सजा सुनाई जाएगी। तालिबान की तरफ से ये भी नहीं बताया गया है, कि क्या आरोपी तालिबानी अधिकारी के खिलाफ भी कोई एक्शन लिया गया है नहीं?
 
'जिहाद को बर्बाद करने की अनुमति नहीं'
तालिबान की तरफ से बयान में कहा गया है कि, "किसी को भी मुजाहिदीन के नाम को नुकसान पहुंचाने या अफगानिस्तान के इस्लामी अमीरात और 20 साल के पवित्र जिहाद को बदनाम करने की अनुमति नहीं है।" आपको बता दें कि, तालिबान ने पिछले साल 15 अगस्त को राजधानी काबुल पर कब्जा किया था और उसके बाद अमीरात सरकार का गठन किया था और फिर अफगानिस्तान में महिलाओं से तमाम अधिकार छीन लिए गये थे और अब बलात्कार का आरोप लगाने वाली लड़की को ही गिरफ्तार कर लिया गया है। जबकि, बाकी देशों में ये होता है, कि आरोपी को गिरफ्तार किया जाता है और खतरा महसूस होने पर पीड़ित लड़की को सुरक्षा दी जाती है, लेकिन ये तालिबान राज है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *