• Sat. Jun 22nd, 2024

मिशन 2024 के लिए सियासी टकराव भारी; एक रहे तो जनता भी साथ बोले- नीतीश

Byadmin

Sep 3, 2022

पटना
पटना में जदयू की तीन दिवसीय कार्यकारिणी की बैठक चल रही है।  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पार्टी पदाधिकारियों का आह्वान किया कि 2024 लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुट जाएं। सभी मतभेद भूल कर लोकसभा चुनाव के लिए काम करना है। उन्होंने कहा कि वे 2 दिनों बाद वे दिल्ली जाएंगे, विभिन्न दलों के नेताओं से उनकी बात होगी। उन्होंने यह भी कहा कि पहले से भी उनकी बात विभिन्न दलों  के नेताओं से हो रही है। देशभर में विपक्ष को वे एकजुट करेंगे।  नीतीश कुमार ने कहा कि 2024 का रिजल्ट भाजपा के खिलाफ जाएगा। मुख्यमंत्री शनिवार को जदयू राज्य कार्यकारिणी की बैठक में बोल रहे थे। बैठक में पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री से प्रधानमंत्री उम्मीदवार के रूप में आगे आने की अपील भी की। बैठक में एनडीए से अलग होकर महागठबंधन सरकार बनाने के पार्टी के निर्णय को अच्छा कदम बताया गया।

नीतीश कुमार 5 सितम्बर को दिल्ली जा रहे हैं।  उनका यह तीन दिवसीय दिल्ली दौरा है जिसमें कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात करेंगे। नीतीश कुमार अन्य  विपक्षी दलों के नेताओं से भी मिलेंगे। मिशन 2024 के तहत  सभी विपक्षी दलों को बीजेपी के खिलाफ एकजुट करने के लिए नीतीश कुमार तीन दिन दिल्ली में बिताएंगे। उन्होंने कहा कि सभी विपक्षी दल एक साथ हो गए तो जनता का भी समर्थन मिलेगा। एकसाथ होने पर 2024 में पूरा विपक्ष मिलकर भाजपा को सबक सिखा देगा।

मणिपुर में जदयू में टूट के मामले में नीतीश कुमार ने कहा कि दूसरी पार्टी के विधायकों को तोड़ना गलत बात है। देश में इस समय लोकतांत्रिक मूल्यों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। 2024 में पूरा विपक्ष एकजुट रहा तो बहुत अच्छा निर्णय आएगा। 2024 का चुनावी रिजल्ट किसी हाल में भाजपा के खिलाफ ही जाएगा।  बैठक में जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने बैठक में कहा कि भाजपा हमारे जदयू को तोड़ने में लगी थी। 2019 लोकसभा चुनाव तक भाजपा का रवैया हम लोगों के प्रति ठीक रहा, उसके बाद बीजेपी षड्यंत्र में लग गयी। 2024 के चुनाव में बीजेपी को केंद्र की सत्ता से बेदखल करने के मिशन में पूरी ताकत से लगना पड़ेगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *