• Sun. May 19th, 2024

दलाई लामा के उत्तराधिकारी के चयन का अधिकार हमारा : चीन

Byadmin

Sep 5, 2022

बीजिंग
तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा के उत्तराधिकारी (Dalai Lama Successor) को चुनने को लेकर चीन ने बड़ा दावा किया है। चीन का कहना है कि बीजिंग के पास 14वें दलाई लामा तेनजिन ग्यात्सो के अगले उत्तराधिकारी को चुनने का एकमात्र अधिकारी उसके पास है। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की सरकार अगले दलाई लामा के चयन अधिकार के अपने दावों पर अडिग है।
गौरतलब हो कि, चीन का ये दावा यूएस-तिब्बत नीति के विपरीत है। इस नीति में कहा गया था कि दलाई लामा के उत्तराधिकारी का चयन करने का अधिकार तिब्बतियों के पास है।

तिब्बतियों को किया गया था निर्वासित

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार एक थिंक टैंक पॉलिसी रिसर्च ग्रुप के मुताबिक चीन ने दावा किया है कि दलाई लामा के उत्तराधिकारी के चयन का अधिकार बीजिंग के पास है। तिब्बत के वर्तमान में दलाई लामा, तेनजिन ग्यात्सो हैं। उन्हें उत्तराधिकारी के रूप में तब चुना गया था जब वह दो साल के थे। तिब्बत पर चीन के कब्जे के बाद तिब्बतियों को भारत में निर्वासित होने पर मजबूर होना पड़ा।

निर्वासन के बाद से दलाई लामा हमेशा चीन के निसाने पर रहे हैं। इतना ही नहीं चीनियों ने दलाई लामा के समर्थकों को 'दलाई गुट' करार करते हुए आतंकवादी और अलगाववादी
कहता है।

चीन हमेशा से करता रहा है दावा

दलाई लामा को कैसे चुना जाएगा इसके लिए चीनी अधिकारियों ने अक्सर आदेश पारित किए हैं। इसमें 1 सितंबर, 2007 का आदेश है जो तिब्बती बौद्ध धर्म में जीवित बुद्धों के पुनर्जन्म के प्रबंधन पर उपायों की रूपरेखा तैयार करता है।

इस आदेश के अनुसार, अगले दलाई लामा के लिए पुनर्जन्म के आवेदन को चीन के सभी बौद्ध मंदिरों द्वारा पुनर्जन्म लामाओं को पहचानने की अनुमति देने से पहले भरा जाना चाहिए। इस प्रकार चीनी राज्य ने खुद को अंतिम मध्यस्थ बना लिया कि क्या लामा का पुनर्जन्म होता है या नहीं, यह कहने की जरूरत नहीं है कि देश और विदेश में तिब्बतियों की निराशा है।

तिब्बत में प्रचलित है पुनर्जन्म की मान्यता

तिब्बत में पुनर्जन्म पर लोग विश्वास करते हैं। तिब्बत में मान्यता प्रचलित है कि एक उच्च लामा अपने परिनिर्वाण के बाद मानव रूप में जन्म लेते हैं, जिसका अर्थ है, संसार, कर्म और पुनर्जन्म से मुक्ति। तिब्बतियों द्वारा छह शताब्दियों से अधिक समय से पोषित इस पवित्र परंपरा पर सीधा हमला करते हुए, चीनी अधिकारी अगले लामा का चयन करने के अपने अधिकार का दावा करता रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *