• Sat. Jun 22nd, 2024

अच्छी बारिश के बाद, अब कड़कड़ाती ठंड के लिए हो जाएं तैयार

नई दिल्ली
 देश के अधिकांश हिस्सों में अच्छी बारिश के बाद मानसून जल्द ही विदाई लेने वाला है और ठंड का मौसम भी जल्द ही दस्तक देने वाला है। देश में इस साल कड़ाके की ठंड पड़ने के संकेत अभी से मिलना शुरू हो गए हैं। बद्रीनाथ और सिखों के पवित्र तीर्थ स्थल हेमकुंड साहिब की चोटियों के साथ केदारनाथ में भी पहली बार बर्फबारी देखने को मिली है। उत्तर भारत के पहाड़ी इलाकों में बीते 3 दिन से बर्फबारी हो रही है और बद्रीनाथ, हेमकुंड साहिब में पारा गिरने के कारण कड़ाके की ठंड पड़ रही है। अधिकतम दो सप्ताह में सुबह और शाम के समय सर्दी की आहट महसूस होने लगेगी। अक्टूबर की शुरआत में तापमान के सामान्य जबकि माह के मध्य से सामान्य के नीचे रहने का पूर्वानुमान है। अलबत्ता, ठीकठाक सर्दी के लिए अभी नवंबर का इंतजार करना होगा।

30 सितंबर को पूरी तरह विदा हो जाएगा मानसून

मौसम विभाग के मुताबिक 21 तारीख से पश्चिमी राजस्थान, दक्षिण हरियाणा और पंजाब से मानसून की विदाई शुरू हो जाएगी। इसकी सामान्य तारीख 17-18 सितंबर है। 27- 28 तारीख के आसपास यह दिल्ली एनसीआर से विदा ले लेगा। यहां इसकी सामान्य तारीख 25 सितंबर है। फिर 30 तारीख तक यह समस्त उत्तर भारत से विदा हो जाएगा। अभी हवा की दिशा उत्तरी- पूर्वी चल रही है जिसमें गर्माहट एवं नमी भी रहती है।

हवा की दिशा बदलने के साथ ही शुरू होगा बदलाव

मानसून की विदाई के बाद हवा की दिशा उत्तर पश्चिमी हो जाएगी। यह जम्मू कश्मीर की ओर से आएगी। इसके साथ पहाड़ों की ठंडक भी दिल्ली एनसीआर तक पहुंचने लगेगी। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि हवा की दिशा बदलने के साथ ही सुबह-शाम के मौसम में फर्क महसूस होने लगेगा। इसके बाद अक्टूबर के पूर्वार्ध से अधिकतम व न्यूनतम तापमान में भी बदलाव नजर आने लगेगा। अभी जो तापमान सामान्य से ऊपर चल रहे हैं, वह सामान्य से नीचे आ जाएंगे। इसी के साथ गर्मी के स्थान पर गुलाबी ठंडक का एहसास होने लगेगा।

बर्फ से ढक गई पहाड़ों की चोटियां

केदारनाथ, बद्रीनाथ और हेमकुंड साहिब में तीन दिन से बर्फबारी जारी है और यहां पहाड़ों की चोटियां बर्फ से ढक गई है। गौरतलब है कि इस सीजन में चारधाम यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या भी काफी होती है, इसलिए यहां काफी भीड़ भी है। अचानक बर्फबारी शुरू होने के कारण श्रद्धालु व पर्यटक यहां बर्फबारी का भरपूर आनंद ले रहे हैं।

केदारनाथ में मंगलवार सुबह भी बर्फबारी

उत्तराखंड के मैदानी इलाकों में ठंड तेजी से बढ़ी है। दरअसल मंगलवार को इस सीजन में दूसरी बार केदारनाथ की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी हुई है। केदारनाथ क्षेत्र में इस साल अच्छी बारिश भी हुई है और अब बर्फबारी के कारण यहां का मौसम काफी सुहावना हो गया है, इस कारण से चारधाम यात्रियों की संख्या में भी बढ़ोतरी हुई है। शनिवार को चारों धाम बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के अलावा हेमकुंड की ऊंची चोटियों में अच्छी बर्फबारी हुई।

दिल्ली में 38 प्रतिशत कम हुई मानसून की बरसात

दिल्ली के लिए इस बार का मानसून सीजन बहुत अच्छा साबित नहीं हुआ। यही वजह है कि अबकी बार सामान्य से 38 प्रतिशत कम वर्षा हुई है। दिल्ली की मानक वेधशाला सफदरजंग में जून, अगस्त और सितंबर के महीने में सामान्य से कम बरसात रिकार्ड की गई। जून के महीने में सामान्य से 67 प्रतिशत, अगस्त में सामान्य से 82 प्रतिशत सितंबर में अब तक सामान्य से 53 प्रतिशत बरसात कम हुई है। सिर्फ जुलाई में ही सामान्य से अधिक बरसात हुई है।

अक्टूबर के पहले सप्ताह में बदलेगा मौसम का मिजाज

महेश पलावत (उपाध्यक्ष (मौसम विज्ञान एवं जलवायु परिवर्तन), स्काईमेट वेदर) का कहना है कि मानसून की विदाई के साथ ही हवा की दिशा बदल जाती है। हवा की दिशा बदलते ही मौसम भी बदलने लगता है। अक्टूबर की शुरुआत में सुबह-शाम का बदलाव नजर आएगा जबकि माह के मध्य में तापमान की गिरावट दिखाई देने लगेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *