• Thu. Jun 13th, 2024

ऐतिहासिक समलैंगिक विवाह विधेयक अमेरिकी सीनेट में पास, राष्ट्रपति बाइडेन बोले, प्यार तो प्यार होता है

अमेरिका 
अमेरिका में समलैंगिक विवाह का रास्ता साफ होता जा रहा है और अमेरिकी सीनेट में समलैंगिक और अंतर्रजातीय विवाहों की रक्षा के लिए कानून पास पारित कर दिया गया है। समलैंगिक विवाह कानून का पास होना एक ऐतिहासिक फैसला है और माना जा रहा है, कि पूरी दुनिया पर इसका असर पड़ने वाला है। साल 2015 में अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने समलैंगिंक विवाह को मंजूरी दी थी और अब सीनेट ने ऐसे जोड़ों की रक्षा के लिए भी बिल को पारित कर दिया है। इस कानून के पारित होने से हजारों ऐसे जोड़ों को राहत मिलेगी, जिन्होंने समलैंकिग शादी की हुई है।
 
सीनेट में पारित समलैंगिक बिल
सीनेट में पारित समलैंगिक बिल यह सुनिश्चित करेगा, कि समान-सेक्स और अंतरजातीय विवाह संघीय कानून में दर्ज हैं। मंगलवार को इस बिल को सीनेट में 61-36 के बहुमत से मंजूरी दी गई, जिसमें 12 रिपब्लिकन सीनेटर्स का भी समर्थन शामिल है। सीनेट में बहुमत दल के नेता चक शूमर ने कहा कि, ये बिल "लंबे समय से आ रहा है" और अमेरिका के "अधिक समानता की दिशा में कठिन लेकिन कठोर मार्च" का हिस्सा है। डेमोक्रेट तेजी से आगे बढ़ रहे हैं और डेमोक्रेटिक पार्टी अभी भी संसद के दोनों सदनों में अपना बहुमत बरकरार रखे हुई है। वहीं, अब समलैंगिक कानून सीनेट में पास होने के बाद सदन में जाएगा और सदन में पास होने के बाद राष्ट्रपति बाइडेन की मंजूरी के लिए ये बिल व्हाइट हाउस भेजा जाएगा और जब बाइडेन हस्ताक्षर कर देंगे, तो ये बिल कानून बन जाएगा। डेमोक्रेटिक पार्टी का दावा है, कि हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में भी वो इस बिल को पास करा लेंगे।
 
बाइडेन ने जताई खुशी
वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इस बिल को लेकर की गई द्विदलीय मतदान की प्रशंसा की और उन्होंने कहा कि, अगर हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में भी इस बिल को पास कर दिया जाता है, तो फिर वो फौरन इस बिल पर हस्ताक्षर कर देंगे और फिर अमेरिका में समलैंकिगों के अधिकारों के लिए एक अहम कानून बन जाएगा। राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा कि, "यह कानून सुनिश्चित करेगा, कि LGBTQ युवा "यह जानकर बड़े होंगे कि वे भी पूर्ण, सुखी जीवन जी सकते हैं और अपना खुद का परिवार बना सकते हैं।" आपको बता दें कि, अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट के जून में गर्भपात के संघीय अधिकार के फैसले को पलटने वाले फैसले के बाद बाइडेन की डेमोक्रेटिक पार्टी ने इस बिल को लेकर तेजी से काम किया है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद इस बात का डर था, कि समलैंगिक विवाह को लेकर भी सुप्रीम कोर्ट फैसला पलट सकता है और समलैंगिक विवाह कानून खतरे में आ सकता है।
 
डेमोक्रेटिक पार्टी को बड़ी राहत
समलैंकिग विवाहों की रक्षा करने वाले नया कानून का सीमेट में पास होना डेमोक्रेट्स के लिए एक बड़ी जीत है, क्योंकि राष्ट्रपति बाइडेन का व्हाइट हाउस के कार्यकाल का दो साल खत्म होने वाला है और इस दौरान वो हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में बहुमत खो चुके हैं। वहीं, बाइडेन की पार्टी समलैंगिक विवाह के समर्थन में है और अमेरिका में समलैंगिक जोड़ों को हिंसा का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन, इस कानून के पास होने के बाद अब ऐसे जोड़ों के पास कानूनी अधिकार होंगे। इसी महीने कोलोराडो में एक समलैंगिक नाइट क्लब में शूटिंग की गई थी, जिसमें पांच लोग मारे गए थे और कम से कम 17 घायल हो गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *